Screen Printing Kya hoti Hai

Screen Printing Kya hoti Hai :-Hello Friends Yourstudynotes.comमें आपका स्वागत है आज हम आपको इस Post के जाइये बताने जा रहे है Screen printing के बारे में |तो Friends चलिए शुरू करते है |

Screen printing: –

screen printing एक तरह की printing करने की प्रक्रिया है यह प्रिंटिंग करने की सबसे पुरानी process है। यह process कम-से-कम 1900 century की है। स्क्रीन प्रिंटिंग छोटे और medium data को प्रिंट करने के लिएuse की जाती है। इस तरह की प्रिंटिंग कागज पर ही नहीं बल्कि किसी भी चीज पर की जा सकती है जैसे कि page, Bag, cloth, leather, wood, playboard etc.और इस तरह की प्रिंटिंग के लिए बहुत ही कम चीजों की जरूरत होती है। स्क्रीन प्रिंटिंग में हम visiting card, weeding card, business card को भी प्रिंट कर सकते हैं। स्क्रीन प्रिंटिंग की print करने की speed बहुत कम होती है। स्क्रीन प्रिंटिंग में कई तरह के chemical का use किया जाता है। इस तरह की प्रिंटिंग process में print dark color में आती है।

process of screen printing: –

सबसे पहले हमें जो डिजाइन स्क्रीन प्रिंटिंग से प्रिंट करना है उसे कंप्यूटर में बनाकर प्रिंटर की सहायता से बटर पेपर पर निकाल लिया जाता है।फिर उसके बाद स्क्रीन प्रिंटिंग में एक लकड़ी का चौकोर Frame होता है। उसमें एक स्पेशल टाइप का एक कपड़ा लगाया जाता है। इस कपड़े में बहुत बारीक छेद होते हैं। जब कोई प्रिंटिंग करना है तब उस कपड़े पर केमिकल लगाया जाता है। उसे कुछ देर तक सुखाने के लिए रखा जाता है। यह chemical अच्छे से सूखने के बाद उस पर exposing की process की जाती है।

Screen Printing Exposing Process:-

  1. Frame के कपड़े पर Chemical लेप लगाया जाता है। उस पर ही Exposingकी जाती है|
  2. उस frame को कांच के ऊपर रखा जाता है। उसका आज के नीचे दो या दो से ज्यादा tube light रखे जाते हैं।
  3. कंप्यूटर से मिला Design उस Frame के ऊपर रखा जाता है।
  4. Butter paper के ऊपर कुछ वजन रखा जाता है। जिससे वह सही तरीके से प्रेम के ऊपर कपड़े के साथ जुड़ा रहे|
  5. सभी चीजों को सही तरीके से रखने के बाद नीचे की ट्यूब लाइट को चालू किया जाता है।
  6. उससे एक सही टाइम के बाद बंद किया जाता है। Exposing का सही टाइम कम से कम 10 से 30 मिनट तक है|
  7. लाइट बंद करने के बाद उस Frame को बाहर निकालकर पानी से Spry किया जाता है |
  8. पानी का Spry करते टाइम जहां पर मैटर है वहां से Chemical निकाल जाता है और बाकी जगह Chemical वैसा ही रहता है।
  9. सही तरीके से मैटर सूखने के बाद उसFrame को सूखने के लिए रखा जाता है |
  10. फिर उसके बाद उसकी Exposing की जाती है|