MS DOS kya hai aur iska kya use hai

MS DOS kya hai aur iska kya use hai:- Hello friends yourstudynotes.com में आपका स्वागत है आज हमआपको बताने जा रहे है | M.S DOS के बारे में तो चलिए शुरु करते है|

MS DOS

M.S DOS एक Operating system है जो कि CMD (Command line user interface) पर आधारित है इसे Command line operating system भी कहा जाता है | इसे use करना बहुत ही कठिन है क्योंकि इसे use करने के लिए Command का इस्तेमाल किया जाता है | और इन Command को याद रखना बहुत ही मुश्किल होता था |M.S DOS व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला सबसे अधिक प्रचलित Operating system है M.S DOS एक Single user operating system है यानिकी अगर किसी के Computer में M.S DOS operating system है तो उसे एक बार में एक ही काम कर सकते है और उसे एक ही व्यक्ति use कर सकता है M.S DOS सभी प्रकार के Micro computer में use होने वाला Operating system है जैसे कि – PC(Personal computer), PC.XT (Personal computer extended technology) PC/AT(Personal computer advance technology) etc. DOS operating system का इस्तेमाल बढ़ते समय के साथ बंद हो गया है लेकिन कुछ जगह आज भी एसी है जहाँ इसका इस्तेमाल होता है |

Full from of m.s dos

इसका पूरा नाम Microsoft disk operating system है |

Application of M.S Dos

M.S DOS के कई Funcation है उनमे से कुछ निन्मलिखित ये है |

Boot record:-

Boot record DOS कि Disk के प्रथम Sector में स्थित होता है जब हम Computer ON(ऑन) करते है तब सबसे पहले इसे ही Computer के द्वारा पढ़ा जाता है इस program में वे सभी निर्देश (instruction) होते है जिनकी सहायता से BIOS File तथा फॉर डॉस को पढ़कर Computer कि memory में स्थानान्तरित किया जाता है |

BIOS File:-

BIOS (Basic input output system) को IO.SYS file भी कहते है इस program में वे सभी निर्देश स्टोर होते है जिनकी सहायता से computer hardware तथा Peripheral device को नियंत्रित करने के काम आता है Hardware device को data देने तथा सूचना प्राप्त करने का काम भी इसी Program कि सहायता से होता है |

Core DOS:-

Core dos को MS Dos file भी कहते है यह सबसे मुख्य File होती है इस program में वे सभी निर्देश होते है जिनकी सहायता से प्रबन्धन सम्बन्धी सभी कार्य कर सकते है |

Command Processor:-

इस फाइल का नाम Command.com है यह use के द्वारा दिए गये Commands को Process करके आवश्यक कार्य सम्पन्न कराती है इसी फाइल कि सहायता से हम कई program को Load करके उन पर अपना काम कर सकते है |

Utility Command:-

Dos में कुछ मुख्य File के अलावा कई अन्य प्रोग्राम फाइल भी होती है जो किसी एक विशेष कार्य को सम्पन्न करने का कम करती है

For Example: File copy करना , Disk copy करना , Disk format करना etc.

Version of MS Dos

Version को संस्करण भी कहते है यह किसी भी Software के विकास उसमे हुए परिवर्तन को बताता है Microsoft Copprection ने सबसे पहला M.S Dos 1.0 बनाया था |

M.S Dos 2.0

M.S Dos 3.0

M.S Dos 3.30

M.S Dos 4.01

M.S Dos 5.0

M.S Dos 6.0

M.S Dos 6.22

History of MS Dos

M.S Dos को सबसे पहले Seattle computer product के tom paterson ने 1980 में बनाया था | तब इसका नाम DOS था | फिर इसे 1981 में micro soft company ने खरीद लिया इसलिए इसका नाम M.S Dos हो गया | फिर इसमें Microsoft company ने कुछ improvement करके इसे IBM के साथ M.S Dos 1.0 के नाम से Launch किया |

DOS Command

Command instruction का समूह होता है जो कि Computer से किसी भी प्रकार का काम करा सकती है Dos Command दो तरह कि होती है |

Internal command

External Command

Note:- इस Commands को use करने के लिए हमे M.S Dos को Open करना होगा उसी पर ही यह Command use होगी |

Internal Command:-

Internal command वह Command होती है जो Dos operating system के साथ आती है |इन्हें अलग से operating system में नही लिख सकते और यह मेमोरी में अलग से Space नही लेती है | जैसे कि – Friends आपके PC में window operating system के साथ कुछ Funcation आते है जिन्हें हम अलग से Install नही करते है ठीक उसी तरह dos में भी कुछ Command पहले से आती है उन्हें ही internal Command कहा जाता है |

cls:-

यह Command computer screen से किसी भी information या data को Clean करने का काम करती है |

c:\>cls Enter

Copy:-

Copy command का use किसी भी Contants को Copy करने के लिए किया जाता है |

c:\>copy c:\ file one (source file) c:\ file two (target file) Enter

External Command:-

External command वह Command होती है जो DOS operating system के साथ नही आती है जिन्हें user के द्वारा लिखा जाता है और यह Memory में अलग से Space भी लेती है |

Attrib:-

Attrib command का use Attribute बनाने के लिए किया जाता है |

c:\> attrib autoexec.bat + R Enter

(यह File only read करने के लिए है | इसमें हम कुछ Write नही कर सकते है |)

Backup:-

यह कमांड backup लेने के लिए use कि जाती है इस कमांड का उसे करने के लिए हमे Backup.EXE file को सेव रखना होगा इस file के बिना Backup command काम नही करेगी |