E-Governance kya hai aur kaise kaam karta hai

E-Governance kya h hai aur kaise kaam karta hai :- Hello friend yourstudynotes.com में आपका स्वागत है l  आज की इस पोस्ट में हम इ -गवर्नेंस के बारे में बताने जा रहे हैं कि ई गवर्नेंस क्या है और कैसे काम करता है? ज्यादा से ज्यादा लोग ने इसका नाम सुना होगा या जो लोग अपने किसी काम से सरकारी ऑफिस में गए हैं और घंटों लाइनों में खड़े होकर इंतजार किया  और जब तक का की बारी आती है तब तक वह चला जाता है जिसके कारण आपका समय भी बर्बाद होता है। और  नतीजा कुछ भी नहीं मिलता और आने-जाने में आप की चप्पल तक जाती है। इस सारी परेशानी को हल करने के लिए गवर्नेंस को लाया गया। जिससे आज आम आदमी अपने जादा तर सरकारी कामो को घर पर रहकर कर सकता है l 

E-Governance kya h hai aur kaise kaam karta hai

E- Governance kya hai

ई गवर्नेंस या नेटवर्क का विकास दो प्रमुख शब्दों से  गवर्नेंस और इंफॉर्मेशन से हुआ है। जिसका अर्थ सूचना या सामग्री को किसी एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के काम को प्रदर्शित करने के लिए हुआ है 

गवर्नेंस पर UN पांच मार्ग दिखाने वाले सिद्धांत निम्न है।

  1. नागरिकों की पसंद पर सेवा प्रदान करना
  2. सरकार बनाना और उससे अधिक से अधिक परिवेश के योग बना कर सेवा प्रदान करना
  3. सामाजिक समावेश
  4. सूचना प्रौद्योगिकी और मानव संसाधन का संपूर्ण प्रयोग करना
  5. जिम्मेदारी से सूचना देना।
E-Governance kya h hai aur kaise kaam karta hai
E-Governance kya h hai aur kaise kaam karta hai

इसका पूरा नाम इलेक्ट्रॉनिक गवर्नेंस है l इसे निम्न लिखित भागो में बांटा गया है 

  1. Government to citizens (G2C)
  2. Government to business (G2B)
  3. Government to employees (G2E)
  4. Government to Government (G2G)
  5. Citizens to Government (C2G)

E-Governance kya h hai aur kaise kaam karta hai

ई गवर्नेंस में सरकारी एजेंसी के साथ व्यापक स्तर पर इंटरनेट पर कार्य होता है। प्रत्येक कार्य जो सरकारी एजेंसी में व्यक्ति द्वारा लेखनी स्तर पर किया जाता है। वह इंटरनेट के इ-गवर्नेंस के जरिए पूर्ण किया जा रहा है कि गवर्नेंस के विभिन्न एप्लीकेशन के माध्यम से इन सभी कार्यों को इंटरनेट पर कंप्यूटरकृत  किया जा चुका है। तथा वह हिस्सा  जो अभी पूर्णरूपेण विकसित नहीं हो पाया है उसे भी विभिन्न चरणों में स्थान प्रदान करने की कोशिश जारी है।

ई गवर्नेंस के द्वारा सरकारी विभागों के विभिन्न कार्यों जैसे पंजीकरण, एड्रेस अथवा पता बदलने हेतु याचिका ,  पंजीकरण का नवीनकारण आदि किए जाते हैं। मनुष्य द्वारा लेखनी  स्तर पर यह कार्य करने में काफी समय व्यतीत हो जाता था। जबकि इंटरनेट द्वारा ई गवर्नेंस के विभिन्न लाभों  तथा वेबसाइट द्वारा इलेक्ट्रॉनिक याचिका अन्य कार्य करने का समय काफी बचत हो जाती है। इसके द्वारा व्यापारिक संस्थान भी विभिन्न प्रकार के कार्य गवर्नेंस के अंतर्गत प्रदान विभिन्न सुविधाओ  का उपयोग करते हैं। सरकारी विभाग में बिल आदि भरने हेतु व समय-समय पर शिकायत का जवाब देने में भी इ -गवर्नेंस का महतवपूर्ण स्थान  है।