C.P.U kya hai? aur iska kya use hai ? in hindi

C.P.U kya hai ? aur iska kya use hai ? in hindi:- Hello friends yourstudynotes.com में फिर से आप सभी का स्वागत है | आज हम अपनी इस post के द्वारा आपको C.P.U के बारे में बताने जा रहे है तो चलिए शुरु करते है |

C.P.U kya hai:- 

Friends, आज की उस post के द्वारा हम C.P.U के बारे में बताने जा रहे है | अगर आप C.P.U के बारे में नही जानते है की – C.P.U क्या होता है ? कैसे काम करता है | तो आज हम आपको इस Post से यही समझाने की कोशिश करेगे | आशा करते है की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयेगी |

Computer कई सारी छोटी छोटी device से मिलकर बना है उनमे से एक C.P.U भी है | C.P.U computer का महत्वपूर्ण हिस्सा है | बिना C.P.U के computer एक डब्बा मात्र है |  C.P.U का full form central processing unit इसे हिंदी में केंद्रय संसाधन इकाई कहते है | C.P.U को Computer का brain कहा जाता है |

Friends, जैसे हमारा दिमाग हमारे शरीर को चलाता है वैसे ही Computer को चलाने का काम C.P.U करता है | यह Computer में होने वाली सभी प्रक्रियाओ को Control करता है यह user द्वारा दिए गये अभी Instrucation (input & output) को Control करके उन सभी Instrucation को Process करके जल्दी से जल्दी हमे Result देता है |

जैसे की- Friends, मैंने keyboard से “Elephant” लिखा और हमने moniter screen पर लिखा हुआ पाया इस Processing में कीबोर्ड से कुछ भी लिखने पर C.P.U ने एक – एक Character को Process करके हमे output screen पर दिखाया | user द्वारा दिए गये प्रत्येक Instrucation को Arithmetic & logical की सहायता से जल्दी से जल्दी हमे output देता है | C.P.U को हम Processer भी कह सकते है आज के समय में कई तरह के और fast काम करने वाले कई सारे processer आ रहे है |  Processer जितना अच्छा होता है | उतना ही अच्छा और तेज work करता है | Processer की बढ़ती generation के साथ – साथ यह काफी तेज और ज्यादा से ज्यादा data को Access करने वाले होते जा रहे है | Processer जितना अच्छा होता है कंप्यूटर उतना ही अच्छा काम करता है |

processer एक साल या 6 महीने में अलग Generation आ जाते है | इस समय आये हमे कुछ नये Processer intel platinum gold, intel I3, intel I5, Intel I7 etc. यह बढ़ती generation के साथ – साथ काफी advance हुए है |

C.P.U के भाँग :-

C.P.U के काम के आधार पर हमने इसे तीन भागो में बाँटा है |

  • Memory (storage unit)
  • Control unit
  • ALU (Arithmetic & logical unit)

Memory (storage unit) :-

Memory C.P.U का वह हिस्सा होता है | जहाँ user द्वारा दिए गये सभी Instrucation और C.P.U द्वारा Process किये गये Data को रखा जाता है | memeory में data primary memeory में Store होता है या Secondary memeory में Store होता है | memory C.P.U का महत्वपूर्ण भाँग बिना memory के डाटा को स्टोर नही किया जा सकता |

Control unit:-

Control unit friends, आपको इसके नाम से ही पता चल रहा होगा की Control unit – C.P.U का वह Part है जो की सारे Instrucation को Control करता है | यानिकी C.P.U द्वारा Process किये गये डाटा को या इनपुट द्वारा दिए गये data को Control करने का काम Control unit करता है | जब डाटा Process होने के लिए इनपुट द्वारा दिया जाता है तो यह उस डाटा को Processer तक बारी – बारी से पहुचता है | तथा डाटा प्रोसेस होने के बाद जब आउटपुट है तो उसे भी बारी – बारी से दिखता है | यह इनपुट तथा आउटपुट के बीच  में पुल होने का काम करता है |जैसे की- ‘Apple’ लिखा तो यह पहले ‘A’ को फिर ‘p’ को ऐसे करके बारी – बारी से टेक्स्ट को पहुचता है |

A.L.U:-

ALU को Arithmetic  & logical unit कहा जाता है यह C.P.U का महत्वपूर्ण हिस्सा है यह Processing के समय ALU तथा Storage unit (memory) के बीच डाटा प्रवाहित (Flow) करता है इसका काम mathmatical क्रियाओ जैसे – जोड़ , घटाव , गुणा , भाग आदि करता है | और डाटा को Compare करने का काम करता है | जैसे की – Data में तुलना करना , मिलान (Match) करना , data को छाँटना आदि कार्य करता है | तब जाकर हमे आउटपुट देता है | C.P.U के इस Arithmetic & logical unit विभिन्न प्रकार की Sub – unit (उप – इकाई) होती है जैसे की – Register, Counter & Adder etc. होती है |

 

Read also more this post:-